दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

कर्तव्य पथ पर असम और लद्दाख की झांकी में दिखी समृद्ध विरासत गणतंत्र दिवस Ndtv हिंदी Ndtv भारत – 74वां गणतंत्र दिवस: कर्तव्य पथ पर असम और निशान की नज़र में दिखी विरासत की झलक -दिल्ली देहात से

स्पेक्ट्रमियों में जीवंत संस्कृति की झलक देखने को मिली।

नई दिल्ली:

गणतंत्र दिवस समारोह के परेड के दौरान कई राज्यों में एक करोड़ की राशि निकाली गई। असम और संकेत की आशंका में समृद्ध विरासत का दृश्य दिखाई देता है। असम की आशंका में अहोम साम्राज्य की सेनापति लाचित बोड़फूकन, प्रसिद्ध कामाख्या मंदिर सहित राज्य के अन्य सांस्कृतिक विरासतों का प्रदर्शन किया गया। वहीं संकेत की आशंका में इस केंद्र अति प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों के मनोरम दृश्य और जीवंत संस्कृति की झलक देखने को मिली। लेह और करगिल के कलाकारों की मंडली भी इस तरह दिख रही है जो इस तरह से चार चांद लगा रही थी।

यह भी पढ़ें

बोड़फुकन पूर्ववर्ती आहोम साम्राज्य के सेनापति थे, जिन्होंने 1671 के सरायघाट युद्ध में मुगल सेना के असम पर कब्जा करने के प्रयास को विफल कर दिया था। केंद्र सरकार ने पिछले साल बोड़फुकन की 400वीं जयंती मनायी थी. गणतंत्र दिवस पर असम की एकरूपी बोड़फुकन, शक्ति पीठों में शामिल कामाख्या मंदिर और राज्य के अन्य सांस्कृतिक खंभों को चित्रित किया गया।

असम की विभिन्नता में शिवसागर जिले के शिव डोल और रंग घर की प्रतिकृति का दावा किया गया, जो घरेलू साम्राज्य की शक्ति के प्रतीक के रूप में जाना जाता है। ट्रेडिशनल म्यूजिक वाद्यों के साथ ट्रेडिशनल म्यूजिक वाद्यों से भागीदारों के दल ने बिहू नृत्य का प्रदर्शन किया।

कर्तव्य पथ पर आधारित निकाली गई एक प्रकारी में सातवीं शताब्दी के गांधार कला झटकों से तराशी द्वारा बुद्ध प्रतिमाओं को चित्रित किया गया। करगिल की इन प्रतिमाओं की तरह दुनिया में सिर्फ तीन प्रतिमाएं हैं और इन्हें बामियान की बुद्ध प्रतिमा की श्रेणी का माना जाता है। बामियान की बुद्ध प्रतिमा को अफ़ग़ानिस्तान के चंगुल में बांध दिया गया था।

गणतंत्र दिवस की अभिप्राय में ईमेल ने बहुत ही गौरवान्वित तरीके से अपनी सांस्कृतिक विरासत और ऐतिहासिक स्थलों का प्रदर्शन किया। इस बार की गणतंत्र दिवस की परेड में कुल 23 लाख निकाली गईं। इनमें से 17 राज्य और केंद्र अधिकार क्षेत्र की सीमाएँ थीं और छह किस्में विभिन्न केंद्रीय मंत्रालयों से संबंधित थीं।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

गणतंत्र दिवस परेड के दौरान आकाश में गरजे भारतीय सेना के विमान