दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

ईडी और सीबीआई जैसी जांच एजेंसियों के दुरुपयोग के मामले में सुप्रीम कोर्ट 14 राजनीतिक दलों की याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार -दिल्ली देहात से

ईडी और सीबीआई जैसी जांच एजेंसियों के दुरुपयोग के मामले में सुप्रीम कोर्ट 14 राजनीतिक दलों की याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

14 पॉलिटिकल वर्क को एक मंच पर आने का काम किया है दिल्ली के चार्ट अरविंद केजरीवाल ने

नई दिल्ली:

सर्वोच्च न्यायालय 14 राजनीतिक दलों की याचिका पर सुनवाई को तैयार हो गया है। विपक्षी राजनीति ने इस याचिका में कहा है कि केंद्र सरकार जांच का भ्रम कर रही है। राजनीतिक गिरफ्तारियां हो रही हैं। दर्ज की गई जांच और अदालतों के लिए गिरफ्तारी और रिमांड पर गाइडलाइन तैयार की गई। इस मामले में 5 अप्रैल को सुनवाई होगी. खास बात यह है कि इन 14 राजनीतिक समानता में देश की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी शामिल है।

यह भी पढ़ें

अभिषेक सिंघवी ने सीजेआई डी वाई चंद्रचूड़ को बताया कि राजनीतिक विरोधियों को गिरफ्तार करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा कानून लागू करने वाले मालिकों के खिलाफ राजनीतिक दलों ने सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। हम भविष्य के लिए दिशा-निर्देश मांग रहे हैं। 2014 के बाद (मोदी सरकार के तहत) मामला दर्ज में भारी उछाल आया है। सजा की दर मात्र 4-5% ही है।

बता दें कि 14 पॉलिटिकल जुड़ाव को एक मंच पर आने का काम किया है दिल्ली के अरविंद केजरीवाल ने। इन असमंजस में कांग्रेस, DMK, You, TMC, बीरेज़ आदि शामिल हैं।

ईडी ने जारी किए थे ये चौंकाने वाले आंकड़े
पिछले दिनों प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 31 जनवरी 2023 तक के आंकड़े जारी किए थे। ईडी ने अब तक धन-शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) के तहत प्रवर्तन मामले की 5906 सूचना रिपोर्ट ईसीआईआर (केस) दर्ज की हैं। इन मामलों में 513 गिरफ्तार हुए हैं। इनमें से 531 मामले सामने आए हैं। इन 531 मामलों में 4954 सर्च वारंट जारी किए गए। इन सभी मामलों में नेताओं के खिलाफ 176 मामले (ईसीआईआर) दर्ज किए गए हैं। कई दिग्गज नेताओं पर भी मामले दर्ज किए गए हैं। ईडी ने कुल मामलों के 2.98 परसेंट में अब तक 1142 चार्ट साइज पेश किए हैं। पीएमएलए के तहत अब तक 25 मामलों का ट्रायल पूरा हो चुका है। इनमें से 24 मामले दोषी करार दिए गए हैं। अब तक कुल 45 अपराध, दोषी करार दिया जा चुका है।

[ad_2]