दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

कानून के शासन का सम्मान…: राहुल गांधी का मामला देख रहे हैं, अमेरिका कहते हैं – कानून के नियम का सम्मान… : राहुल गांधी के मामले पर नजर रख रहा है अमेरिका -दिल्ली देहात से

कानून के शासन का सम्मान…: राहुल गांधी का मामला देख रहे हैं, अमेरिका कहते हैं – कानून के नियम का सम्मान… : राहुल गांधी के मामले पर नजर रख रहा है अमेरिका
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

वाशिंगटन:

संयुक्त राज्य अमेरिका कांग्रेस के नेता राहुल गांधी से जुड़े मामले उन मामलों पर नजर रख रहे हैं, जो भारतीय अदालतों में चल रहे हैं। यह बात अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रधान उपप्रवक्ता वेदांत पटेल ने सोमवार (स्थानीय समय के अनुसार) को कही। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सहित सभी लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति साझा साझेदारी पर भारत सरकार के साथ लगातार काम कर रहा है।

यह भी पढ़ें

वेदांत पटेल ने प्रेस वार्ता में कहा, “कानून के नियम और अनुपालन स्वतंत्रता के लिए किसी भी लोकतंत्र की शिला का सम्मान करते हैं, और हम श्री गांधी (राहुल गांधी) के आधार पर वेदांत पटेल की संसद से जुड़े हुए सवालों के जवाब देते हैं।” मामले को भारतीय अदालतों में देख रहे हैं…”

केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र से सांसद कांग्रेस नेता राहुल गांधी को ‘मोदी सरनेम’ को लेकर की गई उनकी टिप्पणी की वजह से आपराधिक मानहानि के मामले में दोष दोष जाने की तारीख से शुक्रवार को सांसद के रूप में अवरुद्ध घोषित कर दिया गया था।

वेदांत पटेल ने कहा, “अमेरिका अपने भारतीय साथियों के साथ परस्पर संबंध में निश्चित रूप से अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सहित सभी लोकतांत्रिक मूल्यों के प्रति हमारी साझेदारी पर भारत सरकार के साथ काम कर रहा है…” उन्होंने कहा, “हम दोनों देश के लोकतंत्रों को लोकतांत्रिक करने के तरीके से कैसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सहित लोकतांत्रिक सिद्धांतों और मानवाधिकारों के अधिकारों को लाने के महत्व को रोका जाएगा…”

यह पूछे जाने पर कि क्या अमेरिका भारत या राहुल गांधी के साथ कोई बातचीत कर रहा है, उन्होंने कहा, “मेरे पास देने के लिए कोई विशिष्ट जानकारी नहीं है, लेकिन आप जानते हैं कि यह सामान्य है और जहां- जहां-जहां हमारे मामले जुड़ी ताल्लुकात हैं, वहां हम विरोधी पक्षों के सदस्यों के साथ भी जुड़ते हैं… हालांकि मेरे पास आपको देने के लिए कोई विशिष्ट जानकारी नहीं है…”

दोषी है कि गुजरात में सूरत की एक अदालत ने गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी को वर्ष 2019 में कर्नाटक में एक चुनावी रैली के दौरान की गई ‘मोदी उपनाम’ से जुड़ी टिप्पणी को लेकर आपराधिक मानहानि के मामले में दोषी करार देकर दो साल का जुर्माना लगाया। सज़ा सुनाई गई थी।

अप्रैल, 2019 में राहुल गांधी ने कर्नाटक के कोलार में एक चुनावी रैली के दौरान “सभी चोरों का उपनाम मोदी कैसे हो सकता है…” टिप्पणी की थी, जिसके बाद में तत्काल पश्चिम से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता पूर्णेश मोदी ने राहुल गांधी के खिलाफ क्रिमिनल मानहानि का मुकदमा दायर किया था।

[ad_2]