दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

आरबीआई ने एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड से एलआरएस लेनदेन तुरंत बंद करने को कहा NDTV हिंदी NDTV India -दिल्ली देहात से

कार्रवाई

नई दिल्ली:

भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई (आरबीआई) ने एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड (एसबीएम बैंक (इंडिया) लिमिटेड) को अगले नोटिस तक प्रभाव से सभी लिबरलाइज्ड रेमिटेंस एजेंट (एलआरएस) लेन-देन को रोकने का निर्देश दिया है। नियमों के तहत बैंकिंग नियमन अधिनियम, 1949 की धारा 35ए और 36(1) (ए) के एसबीआई बैंकों को एलआरएस परिवर्तनीयताओं को रोकने का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें

बैंकों के बैंकिंग नियम कानून, 1949 की धारा 35ए और 36 (1) (ए) के तहत अपनी शक्तियों का उपयोग करते हुए एस बैंक बैंक (इंडिया) लिमिटेड को अगले आदेश तक लिबर्टी तक अपना रेमिटेंस विकल्प (एलआरएस) के तहत सभी दावा दावा प्रभाव से रोकेंगे का निर्देश दिया है। यह कार्रवाई बैंक में कुछ भौतिक पर्यवेक्षी लुक्स पर देखी गई है, “आरबीआई ने अपने जोखिम में कहा है।

एलआरएस योजना के तहत, अवयस्कों सहित सभी व्यक्तियों को प्रति वित्तीय वर्ष $2,50,000 तक विदेश में स्वतंत्र रूप से धन जारी करने की अनुमति है। यह योजना 4 फरवरी, 2004 को 25,000 अमेरिकी डॉलर की सीमा के साथ शुरू की गई थी।

एसबीएम बैंक मॉरीशस स्थित एसबीबी होल्डिंग्स की सहायक कंपनी है। इसने 1 दिसंबर 2018 को अपना संचालन शुरू किया।

2019 में, एसबीआई ने एसबीएम बैंक (मॉरीशस) द्वारा लिस्टिंग का पालन नहीं करने के लिए एसबीएम बैंक (इंडिया) पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था, जो नवंबर 2018 में बैंक के साथ जुड़ा हुआ था।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने एक बयान में कहा है कि यह म्यूचुअल एसबीएम बैंक (मॉरीशस) केंद्रीय बैंक द्वारा ‘स्विफ्ट से संबंधित संचालन नियंत्रण के समयबद्ध प्रलेखन और नियामक’ और ‘बैंकों में साइबर सुरक्षा संस्थाओं’ पर जारी निर्देशों के कुछ दस्तावेजों का अनुपालन नहीं करने के लिए लगाया गया है।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा – दिग्विजय सिंह के बयान से सहमत नहीं हूं