दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

पाकिस्तान में राजनीतिक तूफान: इमरान खान के काफिले की कार दुर्घटनाग्रस्त, गेट तोड़कर घर में घुसी पुलिस – पाकिस्तान में राजनीतिक तूफान: इमरान खान के काफिले की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त, घर में गेट तोड़कर घुसी पुलिस -दिल्ली देहात से

इमरान खान के अंधेरों और पुलिस के बीच झड़पों की भी खबर है।

नई दिल्ली:

पाकिस्तान में राजनीतिक तूफान का मौसम है। आज पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के घर के गेट पर पुलिस ने बुलडोजर से तोड़ दिया। इसके बाद उनके पुलिस घर में घुस गई। इमरान खान के अंधेरों और पुलिस के बीच झड़पों की भी खबर है। वहीं इमरान खान तोशखाना मामले की सुनवाई के लिए आज जम जा रहे थे। लेकिन, रास्ते में उनकी काफिले की एक कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हालांकि, वह सुरक्षित हैं। इसके बाद इमरान खान ने कहा कि अब ये साफ हो गया है कि मेरे सभी मामलों में जमानत मिलने के बावजूद पीडीएम सरकार मुझे गिरफ्तार करना चाहती है। मैं उनके दावों को जानने के बावजूद मैं ट्राई कर रहा हूं, क्योंकि मैं कानून के नियमों में विश्वास करता हूं। पंजाब पुलिस ने जामन पार्क में मेरे घर पर हमला किया है, जहां सभी बुशरा बेगम हैं। ये वे कौन सा कानून के तहत कर रहे हैं?

यह भी पढ़ें

यह है मामला…
आपको बता दें कि करोड़ों की एक अदालत ने स्थानीय में पाकिस्तान के पूर्व प्रधान मंत्री इमरान खान के खिलाफ तोशाखाना मामले में शनिवार को सुनवाई की। इससे पहले हुई सुनवाइयों में पेश नहीं होने पर कानून प्रवर्तन की खान को गिरफ्तार करने की कोशिश अभी तक नाकाम रही है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के 70 वर्षीय प्रमुख खान निर्वाचन आयोग द्वारा दायर शिकायत से संबंधित कार्यवाही में हिस्सा लेने के लिए अतिरिक्त सत्र एवं जज (एडजे) जफर इकबाल की अदालत में पेश होंगे।

पिछले साल नवंबर में जानलेवा हमला हुआ था
पाकिस्तान निर्वाचन आयोग (ईसीपी) ने संपत्ति संबंधी घोषणाओं में अपने उपहारों के विवरण को कथित रूप से छिपाने के लिए आयोग के लिए इमरान खान के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। ‘डॉन’ समाचार पत्र में बताया गया है कि खान अपनी पार्टी के अकाउंट के साथ लाहौर स्थित अपने आवास से कमाई करने के लिए निकले। शार्के के जी-11 में कार्यस्थल के बाहर सुरक्षा के निर्धारण किए गए हैं, जहां इमरान खान की दोपहर तक पहुंचने की संभावना है। मैक्सिको प्रशासन ने शुक्रवार रात को राजधानी में धारा-144 लागू कर दी थी, जिसके तहत निजी प्राधिकरण, सुरक्षा गार्ड या अन्य व्यक्तियों के लिए हथियार रखना प्रतिबंधित है। पिछले साल नवंबर में खान पर जानलेवा हमला हुआ था।

यह भी पढ़ें
दिल्ली-एनसीआर में तेजाबांदी से मौसम हुआ सुहाना, देश के इन हिस्सों में झमाझम बारिश के आसार
सीबीआई और ईडी फेयर काम कर रही है, जांच किए जा रहे हैं अधिकतर मामले यूपीए सरकार में दर्ज हुए हैं : शाह