दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

पीएम मोदी ने गुरुवार को खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के तीसरे संस्करण के उद्घाटन की घोषणा की -दिल्ली देहात से

पीएम मोदी ने गुरुवार को खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स के तीसरे संस्करण के उद्घाटन की घोषणा की
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

इन मैचों में 4750 से अधिक एथलीट 21 मैचों में 200 से अधिक योगों का प्रतिनिधित्व करेंगे। खेल वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ और गौतमबुद्ध नगर में होने वाले हैं।

प्रधानमंत्री मोदी 25 मई को शाम सात बजे वीडियो कांफ्रेंस के जरिए इसकी शुरुआत करेंगे। खेलों का शुभंकर जीतू बारहसिंघा है जो उत्तर प्रदेश का राज्य है। खेलों का समापन बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) वाराणसी में तीन जून को होगा।

इस अवसर पर केंद्रीय खेल अनुराग ठाकुर, केंद्रीय खेल राज्य मंत्री निसिथ प्रमाणिक समेत प्रदेश के सभी मंत्री और अधिकारी मौजूद रहेंगे। लॉन्च समारोह में मशहूर गायक कैलाश खेर ने अपना संबोधन भी दिया।

घटना के अनुसार लखनऊ 8 स्थानों पर 12 खेल (तीरंदाजी, जूडो, मल्लखंब, वॉलीबॉल, तलवारबाजी, फंसी हुई, टेबल टेनिस, रग्बी, एथलेटिक्स, हॉकी, फुटबॉल की मेजबानी करेगा। गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) तीन स्थानों में पांच गेम (बास्केटबॉल, बास्केटबॉल, कबड्डी बॉक्सिंग, तैराकी और भारोत्तोलन) की मेजबानी करेगा।

नौकायन पहली बार इन मैचों में शामिल हुआ है।

पांच मई को लखनऊ से रवाना होकर खेलों की मशाल प्रदेश के 75 जुड़े हुए 8948 किलोमीटर की यात्रा बुधवार को वापस लखनऊ पहुंचे। लखनऊ से चार मशालें रवाना की गई थीं, जिसके साथ इन मैचों का शुभंकर भी हुआ था। इस दौरान साढ़े पांच लाख से अधिक लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है।

अपर मुख्य सचिव (खेल एवं युवा कल्याण), डॉ.नवनीत सहगल ने बताया कि इन मैचों का उद्घाटन समारोह इतना भव्य होगा कि पूरी दुनिया की दावेदारी पर टिकी होंगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में खेलों का माहौल अब पूरी तरह से बदल गया है। खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए हमेशा आगे रहने वाले चमकदार सरकार इंडिया यूनिवर्सिटी के खेल के हालात विश्व खेल पटेल पर अपनी छाप छोड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में लखनऊ में चकमा के मुकाबलों में जो जोश दिखा था, वैसा ही जोश खेलों में दिखा।

ये भी पढ़ें –

VIDEO: पीएम मोदी के स्वागत में ‘तिरंगा’ के रौट्स से जगमगाए सिडनी हार्बर ब्रिज और ओपेरा हाउस

ऐतिहासिक राजदंड ‘सेंगोल’ को नए संसद भवन में पीएम मोदी स्थापित करेंगे

नए संसद भवन का उद्घाटन पर मोदी सरकार ने ‘सेंगोल’ के दांव क्यों लगाए? पढ़िए इनसाइड स्टोरी

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एंडीटीवी टीम ने विरोध नहीं किया है, यह सिंडीकेट से सीधे प्रकाशित किया गया है।)

[ad_2]