दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

पीएम मोदी ने अपने निवास पर बाल पुरस्कार विजेताओं के साथ बातचीत की NDTV हिंदी NDTV India – पीएम मोदी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं से की बातचीत, बच्चों का ऐसे किया मार्गदर्शन -दिल्ली देहात से


प्रधानमंत्री ने पुरस्कार विजेता को सुझाव दिया कि वे जीवन में आगे बढ़ने के लिए छोटी परिस्थितियों को हल करके शुरुआत करें। धीरे-धीरे क्षमता का निर्माण करें। क्षमताएं और बड़ी संभावनाओं को हल करने के लिए विश्वास विकसित करें। मानसिक स्वास्थ्य और बच्चों के सामने आने की स्थिति के बारे में चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने इस समस्या को दूर करने और ऐसे मुद्दों से निपटने में परिवार की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में बात की।

इन विषयों पर चर्चा हुई
बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा कई अन्य विषयों पर भी चर्चा की गई, जिनमें शतरंज खेलने के लाभ, कला और संस्कृति को करियर के रूप में लेना, अनुसंधान और नवाचार, आध्यात्मिकता आदि शामिल हैं।

6 अप्रत्यक्ष रूप से ये पुरस्कार दिया जाता है
भारत सरकार 6 संपर्क नवाचार, समाज सेवा, शैक्षिक, खेल, कला एवं संस्कृति और वीरता में बच्चों को उनकी जिन उपलब्धियों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार प्रदान कर रही है। प्रत्येक पुरस्कार विजेता को एक पदक, 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिया जाता है।

ये सजीव के नाम हैं
इस साल बाल शक्ति पुरस्कार की डायरेक्ट डायरेक्ट के तहत देश भर में 11 बच्चों को पीएमपी-2023 के लिए चुना गया है। 11 राज्य और केंद्र राज्य के पुरस्कार विजेता में 6 लड़के और 5 लड़कियां शामिल हैं, जिनके नाम हैं: आदित्य नारायण, एम. गौरवी रेड्डी, श्रेया भट्टाचार्जी, संभव मिश्रा, रोहन रामचंद्र बहिर, आदित्य प्रताप सिंह चौहान, ऋषि शिव कृपा, अनुष्का जौली, हनाया निसार, कोलागाटला अलाना मीनाक्षी और शौर्यजीत रंजीतकुमार खैरे।

ये भी पढ़ें:-

देश भर के 11 बहादुर बच्चों से पीएम मोदी ने की बात, ट्वीट कर कहा- आप सभी हमारे हीरो हैं!

भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए एम. गौरवी रेड्डी को मिला ‘प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार’

17 साल के आदित्य प्रताप सिंह ने पानी में सूक्ष्म प्लास्टिक का पता लगाया, पीएम मोदी हैं बढ़िया ख़ुश

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

JNU में क्यों हुआ हुकूमत और पत्थरबाजी, पुलिस ने क्यों नहीं की कार्रवाई? बता रहे हैं सौरभ शुक्र