दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

दिल्ली में गणतंत्र दिवस के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था – दिल्ली में गणतंत्र दिवस के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था -दिल्ली देहात से


अधिकारियों ने बताया कि लगभग छह हजार सुरक्षा प्रदान किए जाएंगे और समारोह में आने वालों के लिए नई दिल्ली दिल्ली में कुल 24 हेल्प डेस्क स्थापित करेंगे।

पुलिस ने बताया कि बम निरोधक कार्रवाई और श्वान दल के लक्ष्य, भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों और अन्य अहम क्षेत्रों में जांच कर रहे हैं।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले दो-तीन महीने से छुट्टी, धर्मशालाओं, गेस्ट हाउस, सिनेमा हॉल, पार्किंग स्थल और बस पर सत्यापन अभियान चल रहा था। इसके अलावा, पुलिस कर्मियों के साथ-साथ अर्धसैनिक बल के सील्स की सुरक्षा के बारे में नियमित रूप से जानकारी दी जा रही है।

पुलिस ने कहा कि दिन और रात की गश्त तेज कर दी गई है, जबकि सार्वजनिक घोषणा प्रणाली के माध्यम से श्रव्य और दर्शकों को ग्रामीणों जैसे भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में दिखाया-सुनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अहम् क्षेत्र में प्रौद्योगिकी को लगाया गया है और कुछ कैमरे के चेहरे की पहचान करने की क्षमता कम है। उनके मुताबिक, पूरे शहर में पुलिस की आशंका बढ़ रही है और पैदल गश्त की जा रही है एवं नाकों पर भी जांच की जा रही है।

उन्होंने कहा कि पुलिस होटल और लॉज की भी जांच कर रही है और साथ ही वहां के कर्मचारियों को किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या गतिविधि के बारे में तुरंत पुलिस को सूचित करने के लिए संवेदनशील कर रही है।

पुलिस ने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह में लगभग 60,000 से 65,000 लोगों के आने की उम्मीद है। नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) प्रणव तयाल ने कहा कि इस साल प्रवेश ‘पास’ पर दिए गए क्यूआर कोड के आधार पर होंगे। बिना वैध ‘पास’ या टिकट के किसी भी व्यक्ति को प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

डीसीपी ने कहा कि 150 से अधिक सीसीटीवी कैमरे देखे गए हैं और उनमें से कुछ चेहरे पहचानने वाली प्रणाली में कमी हैं। पुलिस ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीसीआरडीओ) की वायुरोधी टीम को भी नियंत्रित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि मध्य दिल्ली में बहुमंजिला इमारतों पर सुरक्षा कर्मी ठेके रखेंगे। उन्होंने कहा कि सुरक्षाकर्मी किसी भी तरह के खतरों से निपटने के लिए तैयार हैं।

अधिकारियों ने कहा कि सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) और थानेदार (आशो) विभिन्न निवासी कल्याण संघ और सभी संघों के सदस्यों के साथ बैठक कर रहे हैं और उन्हें गणतंत्र दिवस के लिए सुरक्षा उपायों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया के जरिए भी जागरूकता फैला रही है और लोगों से किसी भी संदिग्ध व्यक्ति, फिटनेस या सामान के बारे में जानकारी देने के लिए कह रही है।

पुलिस ने कहा कि किराएदार और घरेलू सहायकों का सत्यापन भी किया जा रहा है। दिल्ली पुलिस ने 15 फरवरी तक पैरा-ग्लाइडर, पैरा-मोटर, हैंग-ग्लाइडर, यूएवी, यूएएस, माइक्रोलाइट विमान, अपेक्षाकृत संचालित विमान, हॉट हवा के द्रष्टिकोण, छोटे आकार के विमान आदि को मानो पर रोक लगा दी है।

पुलिस ने कहा कि कई नेटवर्क ने आतंकवाद विरोधी उपायों से संबंधित अपनी तैयारियों को देखने के लिए मॉक ड्रिल भी किया है। अधिकारियों ने कहा कि इस वर्ष, सीमावर्ती क्षेत्रों में अतिरिक्त नाके लगाए गए हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि दुष्ट पदार्थ राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश न कर सकें।

यह भी पढ़ें –
— जामिया में बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की निगरानी के ऐलान के बाद 10 छात्रों को हिरासत में ले लिया गया
— राणा अयूब को फिलहाल राहत, SC ने गाजियाबाद कोर्ट से सुनवाई टालने का आदेश दिया

(इस खबर को एंडीटीवी टीम ने नाराज नहीं किया है। यह सिंडीकेट से सीधे प्रकाशित किया गया है।)

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

पहले ही दिन छा गए ‘पठान’, शाहरुख खान ने मचाया धमाल