दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

दिल्ली में एमसीडी की बैठक आज मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव होगा -दिल्ली देहात से

दिल्ली में एमसीडी की बैठक आज मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव होगा
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) में चार दिसंबर को चुनाव होने वाले थे।

नई दिल्ली:
मेयर का इलेक्शन सीक्रेट बैलट से यानी कि कौन व्यक्ति किसे वोट डाल रहा है। यह पता नहीं चल सकता। एक बार मेयर का चुनाव होने पर पीठासीन अधिकारी अपनी कुरसी छोड़ देंगे और फिर सदन की अध्यक्षता नवनिर्वाचित दिल्ली के मेयर करेंगे।

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. दिल्ली नगर निगम में आज मेयर डिप्टी मेयर और स्टैंडिंग कमिटी के छह सदस्यों का चुनाव होना है। दिल्ली नगर निगम का सदन सुबह 11:00 बजे शुरू होगा।

  2. एमसीडी सचिव की तरफ से जो कार्य सूची जारी हुई है, उसके अनुसार पीठासीन अधिकारी या प्रोटेम स्पीकर जो कि बीजेपी के सदस्य सत्या शर्मा हैं, वो सबसे पहले नगर निगम के निर्वाचित पार्षद और मनोनीत पार्षदों को सदस्यता ग्रहण करेंगे।

  3. इस कार्य सूची में यह कहीं नहीं लिखा है कि पहले निर्वाचित सदस्यों की शपथ ली जाएगी या मनोनीत पार्षदों को। पिछली बार परंपरा के खिलाफ बने प्रोटेम स्पीकर सत्या शर्मा ने सबसे पहले मनोनीत सदस्यों को शपथ दिलवानी शुरू की थी और इसी को लेकर सारा बवाल शुरू हो गई थी।

  4. जिसके चलते दिल्ली नगर निगम का प्रभुत्व करना पड़ा था। एक बार पार्षदों की शपथ हो जाए तो इसके बाद प्रोटेम स्पीकर मेयर का चुनाव प्रचार। इस चुनाव में सभी 250 सदस्य पार्षद, दिल्ली के 14 विधायक और दिल्ली के 10 विधायक वोट डालें।

  5. मेयर का इलेक्शन सीक्रेट बैलट से यानी कि कौन व्यक्ति किसे वोट डाल रहा है। यह पता नहीं चल सकता। एक बार मेयर का चुनाव होने पर पीठासीन अधिकारी अपनी कुरसी छोड़ देंगे और फिर सदन की अध्यक्षता नवनिर्वाचित दिल्ली के मेयर करेंगे।

  6. मेयर की अध्यक्षता में सबसे पहले डिप्टी मेयर का चुनाव होगा। इसकी पूरी प्रक्रिया और वोटिंग वैसे ही जैसे मेयर इलेक्शन की है। इसके बाद स्थायी समिति के छह सदस्यों का चुनाव होगा। स्थायी समिति दिल्ली नगर निगम की सबसे शक्तिशाली इकाई होती है, मेयर का पद तो अहम होता है लेकिन निगम की वास्तविक सरकार स्थायी समिति है।

  7. मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव नगर निगम चुनाव के बाद छह जनवरी को सदन की पहली बैठक हुई थी, लेकिन आप और भाजपा के सदस्यों का एक दूसरे से प्लेऑफ जाना और अटकना के बाद सदनों की कार्यवाही कर दी गई थी, जिसके कारण महापौर और उपमहापौर का चुनाव नहीं हो सका।

  8. दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के चुनाव चार दिसंबर को हुए थे और मतगणना सात दिसंबर को हुई थी। आपने 134 वार्ड जीतकर एमसीडी में बीजेपी के 15 साल के शासन को खत्म कर दिया। बीजेपी ने एमसीडी के 250 सदस्यीय सदन में 104 वार्ड में जबकि कांग्रेस ने नौ वार्ड में जीत दर्ज की.

  9. मेयर पद के प्रत्याशियों में स्टाइल ओबरॉय और आशु ठाकुर (आप) और रेखा गुप्ता (भाजपा) शामिल हैं। ओबरॉय आपके मुख्य प्रमाण हैं। डिप्टी मेयर पद के प्रत्याशियों में आले मोहम्मद इकबाल और जलज कुमार (आप) तथा कमल बागड़ी (भाजपा) शामिल हैं।

  10. मेयर और डिप्टी मेयर के अलावा एमसीडी की स्थायी समिति के छह सदस्यों के भी 24 जनवरी को सदन की बैठक के दौरान निर्वाचित होने की संभावना है। नवनिर्वाचित एमसीडी सदस्यों की पहली बैठक महापौर और उपमहापौर के चुनाव के लिए पूर्वाग्रह हो गई थी।

दिन का विशेष रुप से प्रदर्शित वीडियो

सरकारी कॉलेजियम सिस्टम पर क्यों उठा रहा है सवाल?

[ad_2]