दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

जानिए दिल की संरचना और यह कैसे काम करता है दिल कैसे काम करता है -दिल्ली देहात से

जानिए दिल की संरचना और यह कैसे काम करता है दिल कैसे काम करता है
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

कार्डियो एक्टिविटी से जानिए क्या है दिल और कैसे करता है काम।

हृदय कैसे काम करता है: हमारे शरीर के लिए हमारा दिल किसी इंजन की तरह है। ये इंजन शरीर के अनुरूप होंगे। इस इंजन के काम में जरा सी गड़बड़ी नहीं हुई कि उसका शरीर (बॉडी) पर भी दिखने लगे। हमारे पूरे शरीर में कहने को तो बहुत जरा सा होता है दिल (दिल) लेकिन ये जितनी मेहनत करता है उतना ताउम्र कोई और अंग नहीं कर सकता। वैज्ञानिकों (स्वास्थ्य विशेषज्ञों) का दावा है कि संपूर्ण जीवन में संपूर्ण रक्त पंप करता है, अधिक से अधिक फैलाव क्षमता वाले सभी दुनिया के अभियंता एक साथ नहीं बना सकते हैं। दिल की सूरत और काम करने के तरीके को समझने के लिए एनडीटीवी ने विशेष चर्चा की सहयोग डॉ. विकास ठाकरान से।

थायराइड के लिए जड़ी-बूटियां: थायराइड हेल्थ को सुधार के लिए ये 7 जड़ी-बूटियां डाइट में कर लें शामिल

सवाल- दिल क्या है?

उत्तर- दिल हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। जैसे हम या कोई भी इंसान पैदा होता है। तब से ही उसका दिल काम करना संलग्न कर देता है। और, ये तब तक काम करता है जब तक इंसान जीवित रहता है। एक मिनट के अंदर हमारा दिल 72 बार फहराता है। और, शरीर के लिए रक्त पंप करता है। हर मिनट में साढ़े पांच कार्बोहाइड्रेट रक्त पंप करता है। इससे आप समझ सकते हैं कि 24 घंटे, 365 दिन और पूरी जिंदगी में दिल कितना खून पंप कर देगा। ऐसा कोई इंजन शायद सारे इंजीनियर आपस में मिलते हुए ना बनें।

प्रश्न- दिल की एना टॉमी क्या है?

उत्तर : हमारा दिल में एक मसल ही है, जो खून को पंप करता है। दिल में तीन रचनाएं होती हैं। जो इसमें रक्त आपूर्ति करते हैं। धमनी के माध्यम से शरीर में आकर रक्त से ऑक्सीजन एक्सट्रैक्ट कर दिल रक्त को पंप कर देता है। इन सिमित आर्टरी में ब्लॉकेज आता है तो हार्ट अटैक होता है। दिल के अंदर रक्त फेफड़े के माध्यम से जाता है, जो ऑक्सीजन होता है। ये लेफ्ट साइड चेंबर से हार्ट में आता है। इस रास्ते में हार्ट को वॉल्व का यूज करना है।

दिल में 4 वॉल्व होते हैं। वास्तविक नाम एओर्टिक वाल्व, माइट्रल वाल्व, पल्मोनरी वाल्व, ट्राइकसपिड वाल्व होता है। ये वॉल्व हार्ट को प्रामाणिक रूप से भरने और आगे के पंपों में मदद करते हैं। जिन लोगों के वॉल्व में कोई परेशानी होती है, उनमें ओपन हार्ट सर्जरी की जरूरत होती है। अब स्ट्रक्चरल हार्ट डिजीज जैसे ऑपरेशन भी होते हैं जो बिना चीफ छोड़े हो जाते हैं।

एलोवेरा में ये कैप्‍सूल क्रिएट किया फेसपैक, चेहरे से गायब हो जाएंगे पिंपल्‍स, कीलें और दाग-धब्‍बे, फटाफट सीखें लें बनाने के तरीके…

उनके पेसमेकर से हार्ट की पंपिंग इनिशिएट होती है। जो एक तरह से विद्युत आपूर्ति प्रदान करता है। पेसमेकर सेल दिल में इलेक्ट्रिक जैसी आपूर्ति करते हैं। इससे दिल टूट जाता है।

प्रश्न- पेसमेकर कब संबद्ध है?

उत्तर- जिन लोगों की दिल की धड़कन असामान्य रूप से घटित होती है। चक्कर आने लगते हैं और गंभीर स्थिति में जो बेहोश होकर गिर जाते हैं। ऐसे लोगों के दिल को सत्य के रूप में काम करने के लिए पेसमेकर की जरूरत है।

(डॉ. विकास ठकरान, मैक्स, बीएलके में इंटरवेंशनल कार्ड्स विभाग के वरिष्ठ सलाहकार)

वजन घटाएं और ब्लड शुगर कंट्रोल करें मेरी एक कप कॉफी, बस बनाएं वक्त का ध्यान, लें ये एक बात…

[ad_2]