दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

मोर थीम्ड लोकसभा के साथ नए संसद भवन के विशेष दृश्य पीएम मोदी 28 मई को करेंगे उद्घाटन – वीडियो: मोर टाइम्स पर कल तो कमल थीम पर राज्यसभा; देखें- स्मार्ट फीचर से लैस नई संसद का हर कोना -दिल्ली देहात से

मोर थीम्ड लोकसभा के साथ नए संसद भवन के विशेष दृश्य पीएम मोदी 28 मई को करेंगे उद्घाटन – वीडियो: मोर टाइम्स पर कल तो कमल थीम पर राज्यसभा;  देखें- स्मार्ट फीचर से लैस नई संसद का हर कोना
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

पुराना संसद भवन गो रहा है। लेकिन नए संसद भवन का आकार तिकोना रखा गया है। इसके निशान में तीन राष्ट्रीय चिन्ह हैं- कमल, मोर और बरगद का पेड़। नई बिल्डिंग को इन्हीं थीम पर बनाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे। कार्यक्रम की शुरुआत सुबह हवन से होगी, जहां शैव संप्रदाय के महायाजक अधिकृत राजदंड ‘सेंगोल’ को प्रधान मंत्री मोदी सौंपेंगे। ‘सेंगोल’ को अठारहवें स्पीकर की अध्यक्षता के रूप में स्थापित किया जाएगा।

नया संसद भवन के बीचोंबीच कांस्टीट्यूशन हॉल है। इसके ऊपर अशोक स्तंभ लगा है। कांस्टीट्यूशन हॉल के एक ओर दिसंबर और उसके सेरेमोनियल एंट्रेंस है। दूसरी तरफ राज्यसभा और उसका सेरेमोनियल एंट्रेस है।

आज की तारीख राष्ट्रीय पक्षी मोर पर रखी गई है। ये उच्च गुणवत्ता ऑडियो-वीडियो से लैस है। यहां हर डेस्क पर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लगे हैं। लोकसभा में 888 सांसदों के बैठने की व्यवस्था है। हालांकि, नई संसद में सेंट्रल हॉल नहीं है। ऐसे में संसद का संयुक्त अधिवेशन भी पिछले सप्ताह आयोजित किया जाएगा।

9m0v3a9

राज्य की थीम राष्ट्रीय फूल कमल पर आधारित है। ये हॉल में ऑडियो-वीडियो से लैस है। यानी हर डेस्क पर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लगे हैं। यहां 394 सांसदों के बैठने की व्यवस्था है। राज्यसभा और राज्यसभा की कार्यवाही देखने के लिए बड़ी बड़ी दर्शक गैलरी भी बनाई गई हैं।

68g378og

कॉन्स्टिट्यूशन हॉल की तीसरी तरफ सेंट्रल लाउंज है। यहां सांसदों के बैठने, खाने-पीने का अख्तियार है। यहां एक खुला स्थान है, जहां बरगद का पेड़ लगा है। नई इमारत के बाकी हिस्सों में मंत्रियों की देखरेख और समिति रूम बनाए गए हैं।

ja30lu98

नई संसद भवन फाइव स्टार प्लेटिनम रेटेड है। इसमें सभी तरह के स्मार्ट फीचर शामिल हैं। इस इमारत को सबसे ज्यादा सिमित जोन-5 के दृश्यों पर 150 साल की जरूरत को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है।

पीएम मोदी ने साल 2020 में 10 दिसंबर को नई संसद भवन की आधारशिला रखी थी। इसे बनाने की कुल लागत 970 करोड़ रुपये है। इसे शेयर सीमित ने बनाया है।

ये भी पढ़ें:-

नई संसद के उद्धाटन राष्ट्रपति से याचिका दायर करने वाले सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया, कहा- दखल नहीं देंगे

बीजेपी ने समझाई भारत की आजादी में ‘सेंगोल’ की अहमियत, कांग्रेस ने करोड़ों को फर्जी बताया मांगा सबूत

‘सेंगोल’ अब दिल्ली में ही है… नए संसद भवन में स्थापित होगा…

[ad_2]