दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

भुजंगासन के फायदे और घर पर कोबरा पोज कैसे करें – स्वास्थ्य के लिए अच्छा लगा भुजंगासन, जानिए कैसे करते हैं कोबरा पोज और क्या हैं इसके फायदे -दिल्ली देहात से

भुजंगासन के फायदे और घर पर कोबरा पोज कैसे करें – स्वास्थ्य के लिए अच्छा लगा भुजंगासन, जानिए कैसे करते हैं कोबरा पोज और क्या हैं इसके फायदे 
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

Cobra Pose Benefits: सेहत को मिलते हैं भुजंगासन करने से कई फायदे।

योगासन: ऐसे बहुत से लोग हैं जो प्रतिदिन बैठने का काम करते हैं और जिनसे वे सवेरे शाम तक काम करते हैं। इस तरह बैठे-बैठे रहने वाला काम बेहद आरामदायक समझा जाता है, लेकिन इस तरह देर तक बैठे रहने से शरीर को नुकसान पहुंचता है। इससे लोगों को कम उम्र से ही कमर में दर्द, गर्दन में दर्द और वजन बढ़ने जैसी परेशानी से दो चार होना पड़ता है। ऐसे में भुजंगासन (भुजंगासन) किया जा सकता है। यह योगासन बेहद आसानी से किया जा सकता है, नीतियों को दूर रखता है, वजन कम करने में भरता है और शरीर में होने वाले दर्द को दूर करता है। जानिए भुजंगासन (Cobra Pose) के बारे में सब कुछ।

यह भी पढ़ें

बैली एडवांस कम करने के लिए पिएं खींचे, तेजी से कम होने लगेंगे पेट की चर्बी और होगा वजन कम

भुजंगासन कैसे करते हैं

8nv8wfmbqmj

फोटो क्रेडिट: आईस्टॉक

  • भुजंगासन की मुद्रा देखते हुए इसे कोबरा मुद्रा या कोबरा पोज़ भी कहते हैं। इस आसन को करने से पहले रीढ़ की हड्डी को तैयार करना पड़ता है जिससे भुजंगासन करते समय अचानक से रीढ़ की हड्डी पर जोर ना पड़े।
  • रीढ़ की हड्डी के वार्म-अप के लिए दोनों पैरों को सामने की तरफ फैलाकर बैठें। अब पीठ को झुकाते हुए दोनों हाथों से पैर की टांग पकड़ें।
  • अब कोबरा फोटो खिंचवाने की शुरुआत करते हैं। अपने दोनों हाथों को बंधक के पास रखें। आपका पूर्वाग्रह हो गया है। पेट के नीचे का हिस्सा जमीन पर होना चाहिए और हाथों को शरीर के ऊपरी हिस्से को ऊपर की तरफ खींच और ऊपर की तरफ देखने की कोशिश करें।
  • इस पोजीशन को कुछ देर होल्ड करने के बाद पहले पोजीशन (Position) में आ जाएं।
  • भुजंगासन करते समय गहरी सांस लें और फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ें।
  • शुरूआती दौर में 30 सैकंद तक ही आपको भुजंगासन करना होगा। धीरे-धीरे आप समयावधि को एक मिनट तक बढ़ा सकते हैं।

भुजंगासन के फायदे

कोबरा मुद्रा

फोटो क्रेडिट: आईस्टॉक

  • भुजंगासन करने पर शरीर में लचकता दिखाई देती है, खासकर कमर की लचीली होती हैं।
  • कमर पर किसी तरह की अकड़न हो तो दूर हो जाती है और रीढ़ की हड्डी से जुड़ी तकलीफों से राहत मिलती है।
  • इस योगासन (Yogasana) को करने पर पेट की परेशानी जैसे गैस, अपच और कब्ज दूर होने में मदद मिलती है।
  • रक्त प्रवाह बेहतर होता है।
  • रुकना ठीक होता है।
  • सांसों की तकलीफ हो सकती है तब भी इस आसन को किया जा सकता है।
  • भुजंगासन करने पर बॉडी डिटॉक्स होता है जिसका प्रभाव त्वचा पर भी नजर आता है।
  • ताजगी महसूस होती है।

भुजंगासन करते समय इन बातों का ध्यान रखें

8liivh4o

फोटो क्रेडिट: आईस्टॉक

  • भुजंगासन करते समय ध्यान दें कि आप अपनी रीढ़ की हड्डी पर जरूरत से ज्यादा दबाव ना बनाएं।
  • प्रेग्नेंसी महिला को भुजंगासन नहीं करना चाहिए।
  • पोज़ बनाने के बाद सांस ना रुकें बल्कि देर तक रहें।
  • अपने शरीर को मुद्रा में रखें।
  • कोशिश करें कि आप शरीर के किसी भी हिस्से पर सारा वजन ना डालें।

बैली एडवांस कम करने के लिए पिएं खींचे, तेजी से कम होने लगेंगे पेट की चर्बी और होगा वजन कम

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से उपयुक्त चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी या विशेषज्ञ से अपने चिकित्सक से परामर्श लें। NDTV इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदार का दावा नहीं करता है।

[ad_2]