दिल्ली देहात से….

हरीश चौधरी के साथ….

पूर्व नौकरशाहों सहित 270 लोगों ने नए संसद भवन के उद्घाटन के बहिष्कार के लिए विपक्ष की निंदा की -दिल्ली देहात से

पूर्व नौकरशाहों सहित 270 लोगों ने नए संसद भवन के उद्घाटन के बहिष्कार के लिए विपक्ष की निंदा की
-दिल्ली देहात से

[ad_1]

नई दिल्ली: पूर्व पते, राजदूतों और अन्य गणमान्य नागरिकों सहित 270 प्रतिष्ठित नागरिकों के एक समूह ने नए संसद भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करने के लिए शुक्रवार को निर्णय की घोषणा की। नागरिकों के इस समूह ने दावा किया है कि ”परिवार पहले” की नीति के भागीदार भागीदार भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली संसद का बहिष्कार करने के लिए एक साथ आए हैं।

यह भी पढ़ें

प्रतिष्ठित नागरिकों के इस समूह ने बयान जारी कर कहा है कि यह सभी भारतीयों के लिए गर्व का अवसर है, लेकिन विपक्षी पार्टियां बेबुनियाद तर्कों के आधार पर, सनकी, सनकी और उदार और सबसे व्यापक गैर-लोकतांत्रिक हाव-भाव का खुला प्रदर्शन करती हैं। से परे है।

नागरिकों के इस समूह ने कहा कि भारत के लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जिन्होंने एक अरब भारतीयों को अपनी प्रामाणिकता, समावेशी अस्पष्ट, रणनीतिक दृष्टि देने की योग्यता के साथ प्रेरित किया है और सबसे व्यापक, उनकी भारतीयता ‘कांग्रेस और अन्य विरोधी दलों के फॉर बिग’ है।

नागरिकों के इस समूह की ओर से बयानों पर हस्ताक्षर करने वालों में 88 नामांकन, 100 विशिष्ट नागरिक और 82 शिक्षाविद शामिल हैं। राष्ट्रीय पुश्ताकरण (एनआईए) के पूर्व निदेशक वाईसी मोदी, पूर्व आईएएस आर डी कपूर, गोपाल कृष्ण और समीरेंद्र चटर्जी के अलावा लिंग या विश्वविद्यालय के कुलपति अनिल रॉय दुबे उन लोगों में शामिल हैं, जिन्होंने संयुक्त बयान जारी किए हैं।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हाल ही में प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी और उन्हें नए संसद भवन का उद्घाटन करने के लिए आमंत्रित किया था। मोदी 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे। मोदी ने 2020 में इस भवन का शिलान्यास भी किया था और उस समय ज्यादातर विरोधी दल इस कार्यक्रम से दूर थे।

ये भी पढ़ें:-

बीजेपी ने समझाई भारत की आजादी में ‘सेंगोल’ की अहमियत, कांग्रेस ने करोड़ों को फर्जी बताया मांगा सबूत

VIDEO : मोर शाम को तो कमल पर राज्यसभा; देखें- स्मार्ट फीचर से लैस नई संसद का हर कोना

“हर भारतीय को गौरवान्वित होगा” : नई संसद का वीडियो शेयर कर पीएम मोदी ने की अपील

[ad_2]